संविधान

उत्तर क्षेत्रीय विद्युत समिति का गठन, भारत सरकार के विद्युत अधिनियम, 2003 के अनुच्छेद 2 के उप-अनुच्छेद 55 के प्रावधानों के अनुसरण में, दिनांक- 25 मई, 2005 के मिसिल संख्या-23/1/2004- आर एण्ड आर तथा 29 नवम्बर, 2005 को संशोधित एवं दिनांक- 9 मई, 2008 को यथा संशोधित संकल्प द्वारा, संघ शासित क्षेत्र चण्डीगढ़, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड वदिल्ली राज्यों की विद्युत प्रणालियों एवं उत्पादन केन्द्रों को सम्मिलित करते हुए, भारत सरकार के राजपत्र में “उत्तर क्षेत्रीय विद्युत समिति” (उ.क्षे.वि.स.) के नाम से अधिसूचित किया गया है ।

एनआरपीसी के व्यावसायिक नियमों के आचरण के लिए यहां क्लिक करें